मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी 2021 | My Neighbour Essay In Hindi

नमस्ते दोस्तों ,आज हम इस पोस्ट में मेरे पड़ोसी पर निबंध अर्थात my neighbour essay in hindi इसके बारे मे जानकारी लेंगे । short essay on my neighbour in hindi अर्थात essay on my neighbour in hindi यह निबंध हम 100 , 200 और 300 शब्दों में जानेंगे । तो चलिए शुरू करते है |

मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी | essay on my neighbour in hindi in 100 , 200 and 300 words

मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी 100 शब्दों में | my neighbour essay in hindi in 100 words

पड़ोसी होना बहुत अच्छी बात है क्योंकि पड़ोसी होना बहुत मददगार है। पड़ोसी हमेशा हम सभी की मदद करते हैं, भले ही हमें कभी किसी की जरूरत हो, पड़ोसी हमारे लिए बहुत उपयोगी होते हैं। हमारे नाथ रिश्तेदार पहुंचते ही हमारे दुख में शामिल नहीं होते पड़ोसी क्योंकि वे हमारे बगल में रहते हैं। मेरे पड़ोसी बहुत अच्छे हैं। जरूरत पड़ने पर वे हमेशा हमारी मदद करते हैं। वे हमारे घर में मौजूद हैं किसी भी समस्या या खुश माहौल के मामले में हमारे पड़ोसी निश्चित रूप से हमारे घर आएंगे।

मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी 200 शब्दों में | my neighbour essay in hindi in 200 words

पड़ोसी हमारे सबसे अच्छे दोस्त, रिश्तेदार होते हैं पड़ोसी हमारे बहुत से काम आसान कर देते हैं। जब हमें उनकी आवश्यकता होती है, तो वे तुरंत हमारे घर आ जाते हैं। पड़ोसी के आने पर कोई अन्य रिश्तेदार या दोस्त हमारे पास नहीं आ सकता है। इसलिए पड़ोसी होना किसी उपहार से कम नहीं है ज्यादातर लोगों के पड़ोसी बहुत बुरे होते हैं लेकिन मेरे पड़ोसी ऐसे नहीं हैं।जब भी हमारे घर में कोई काम होता है तो पड़ोसी सबसे पहले मदद के लिए आते हैं। मेरा पड़ोसी पाटिल है। उनका परिवार बहुत अच्छा था, उन्होंने सभी के साथ अच्छा व्यवहार किया। जरूरत पड़ने पर मदद के लिए वे हमेशा मौजूद रहते थे।

उनके परिवार में 4 लोग थे। एक पाटिल जी और उनकी पत्नी और एक बेटा और बेटी थे। उनकी पत्नी एक बहुत ही धार्मिक महिला थी। उनका बेटा डॉक्टर बनने के लिए पढ़ रहा है और उनकी बेटी भी डॉक्टर बनने के लिए पढ़ रही है। पाटिल एक वकील हैं। वह सभी से अच्छा बोलते हैं और सभी का सम्मान करते हैं, जिससे हर कोई उनका सम्मान करता है। उसका स्वभाव है कि वह सबकी मदद के लिए तैयार रहता है। पड़ोसी न भी हो तो भी हमें कई जगह मदद नहीं मिलेगी। पड़ोसी हमेशा हमारे सुख-दुख में शामिल होते हैं। हमारे पड़ोसी बहुत सी चीजों को आसान बनाते हैं।

मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी 300 शब्दों में | my neighbour essay in hindi in 300 words

हमारे पड़ोसी बहुत खास हैं क्योंकि जब भी हमें उनकी जरूरत होती है, वे बिना किसी हिचकिचाहट के हमारे पास मदद के लिए आते हैं। पड़ोसी होना बहुत जरूरी है क्योंकि अगर आपको कोई समस्या है, तो आपके रिश्तेदारों और अन्य लोगों को आने में समय लगेगा। लेकिन पड़ोसी होने के नाते हम कुछ समय के लिए इस समस्या से निपट सकते हैं।पड़ोसी हमारी कई तरह से मदद करते हैं, अगर आपको कभी पैसे की जरूरत पड़े तो हम इसे अपने पड़ोसियों से ले सकते हैं।

मेरे पड़ोसी पर निबंध हिन्दी 2021 | My Neighbour Essay In Hindi

आपके आस-पास के हर आदमी को आपका पड़ोसी कहा जाता है। हर किसी के पड़ोसी होते हैं, उसी तरह मेरा एक पड़ोसी है जिसका नाम पाटिल है। उसका परिवार एक अच्छा परिवार है, वह सभी लोगों की मदद के लिए हमेशा तैयार रहता है। अगर उसके आसपास के किसी भी पड़ोसी को समस्या है, तो मदद करें उन्हें पहले। परिवार में चार सदस्य हैं। पाटिल जो एक बहुत अच्छे वकील हैं। उनकी पत्नी एक बहुत ही दयालु और धार्मिक सोच वाली महिला हैं जो अपना अधिकांश समय भगवान की पूजा और पूजा में बिताती हैं। उनका एक बेटा और एक बेटी है, दोनों डॉक्टर बनने के लिए पढ़ाई कर रहे हैं।

उनके परिवार के पास हमारे पड़ोसियों से सबसे ज्यादा पैसा है, लेकिन उन्हें कभी भी अपने पैसे पर गर्व नहीं हुआ वह पड़ोसियों के साथ-साथ गरीबों और बीमारों की भी मदद करते हैं ऐसे अच्छे पड़ोसी पाकर हम सभी खुश हैं। जब कोई समस्या आती है, तो हम उन्हें अपने घर में स्वतंत्र रूप से आने में मदद करते हैं और तुरंत हमें अपनी समस्या के बारे में बताते हैं।

पड़ोसी सभी लोगों को अपना काम पूरा करने में मदद करते हैं। रात में आने वाली कोई भी समस्या कई लोगों की जान ले लेती है पड़ोसियों को बचाओ, तो रिश्तेदारों तक पहुंचने में समय लगता है। अगर इस बीच कुछ होता है, तो बहुत से लोग पहचान सकते हैं, लेकिन पड़ोसियों की वजह से बहुत से लोग जाने के बाद छोड़ देते हैं।

मेरा पड़ोसी पाटिल जो अपने पड़ोसियों की मदद के लिए नौकरी छोड़ देता है, वह भी अपने पड़ोसियों की मदद करके अपना काम पूरा करता है। जब भी किसी को रात में डॉक्टर की जरूरत होती है, तो पाटिल जी के दो बच्चे भी दोपहर 1:00 बजे पड़ोसियों की मदद के लिए आते हैं। उनका पूरा परिवार दूसरों की मदद करें इसलिए हम सभी ऐसे पड़ोसियों को पाकर बहुत खुश हैं जो हर समस्या में हमारे पीछे खड़े हैं।

निष्कर्ष

आज हमने इस पोस्ट में मेरे पड़ोसी पर निबंध अर्थात my neighbour essay in hindi इसके बारे मे जानकारी ली । short essay on my neighbour in hindi अर्थात essay on my neighbour in hindi यह निबंध हम 100 , 200 और 300 शब्दों में जान लिया । अगर आपको इस पोस्ट और वेबसाईट के बारे मे कोई भी शंका हो तो आप हमे कमेन्ट बॉक्स मे कमेन्ट करके बता सकते हो । और यह पोस्ट शेयर करना ना भूले ।

अगर आप ब्लॉगिंग यह मराठी मे अर्थात Blogging In Marathi सीखना चाहते हो तो मराठी जीवन इस वेबसाईट को जरूर विजिट करे ।

Leave a Comment

x