मेरे प्रिय जानवर पर निबंध 2021 | My Favourite Animal Essay In Hindi

नमस्कार दोस्तों, इस पोस्ट में हम मेरे प्रिय जानवर पर निबंध यानी my favourite animal essay in hindi के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं। हम इस निबंध को १००, २०० और ३०० शब्दों में सीखेंगे।

तो चलो शुरू करते है my favourite animal dog essay in hind

मेरे प्रिय जानवर पर निबंध | my favourite animal essay in hindi in 100,200 and 300 words

100 शब्दों में मेरे प्रिय जानवर पर निबंध | essay on my favourite animal in hindi in 100 words

पशु प्रकृति का एक महत्वपूर्ण तत्व हैं। आपके आस-पास हम कुत्ते, बिल्ली, भैंस, गाय, घोड़े जैसे कई जानवर देखते हैं। हर कोई अलग-अलग जानवरों से प्यार करता है। वैसे ही मेरा पसंदीदा जानवर कुत्ता है। कुत्तों की कई नस्लें हैं। कुत्तों का इस्तेमाल कई बीमारियों में इलाज के तौर पर किया जाता है। और कुत्ता तनाव को कम करने में मदद करता है। प्राचीन काल से कुत्ता एक आदमी के आसपास रहा है। माना जाता है कि कुत्ते को भोजन के लिए एक आदमी की संगति में रखा गया था।

कुत्ता एक ईमानदार जानवर है। इसलिए, इसका उपयोग रखरखाव, अपराध जांच और साहचर्य के लिए किया जाता है। तो ज्यादातर लोगों के घरों में हम एक पालतू कुत्ते को देखते हैं। मेरे घर में एक कुत्ता भी है और उसका नाम मोती है। वह एक बैल कुत्ता है। वह और मैं बहुत अच्छे दोस्त बन गए हैं। हम मोतियों की अच्छी देखभाल करते हैं। हम उसका पीछा तब से कर रहे हैं जब वह दस महीने का था। तो हमारा घर सबका प्रिय है। मोती हर समय जागता रहता है।

गुण वह रात में हमारे घर की रक्षा करता है। जब हमारा पूरा परिवार कहीं बाहर जाता है तो मोती हमारे घर की रक्षा करते हैं। मोती घर पर है इसलिए हम इस विचार से सुरक्षित हैं कि घर सुरक्षित है। मुझे मोतियों के साथ समय बिताना अच्छा लगता है। यह मुझे मेरे सारे तनाव और चिंताओं को भूल जाता है। उससे मेरी दोस्ती इतनी मजबूत हो गई है कि वह हमेशा मेरा पीछा करता रहता है। हर सुबह वह उसे टहलने ले जाता है। जब मैं स्कूल से घर आता हूं तो वह हर शाम मेरे साथ खेलता है।

वह हमारे घर के बाहर गार्ड का काम करता है। कुत्ते अपराधियों को खोजने में उपयोगी होते हैं जिनकी अपराध दर इन दिनों इतनी बढ़ गई है। कुत्तों को प्यार करने वाला, ईमानदार और ईमानदार माना जाता है। मुझे लगता है कि कुत्ता सबसे उपयोगी जानवर है। इसलिए मुझे यह कुत्ता बहुत पसंद है।

200 शब्दों में मेरे प्रिय जानवर पर निबंध | essay on my favourite animal in hindi in 200 words

प्रकृति का प्रत्येक प्राणी प्रकृति और मनुष्य के लिए उपयोगी है। हमारे चारों ओर हम कुत्ते, बिल्ली, घोड़ा, गाय, भैंस जैसे कई जानवर देखते हैं। इन सभी जानवरों में से बिल्ली मेरी पसंदीदा है। एक बिल्ली एक पालतू जानवर है। कुत्ते के बाद बिल्ली एक लोकप्रिय पालतू जानवर है। हमारे घर में एक बिल्ली भी है उसका नाम मणि है। उसके रंग सफेद और काले हैं। उसकी आँखें चमकीली नीली हैं। बिल्ली के शरीर पर बाल बहुत मुलायम होते हैं इसलिए उसका शरीर हमेशा मुलायम लगता है।

हमारे मणि के कान और आंखें बहुत अच्छी हैं। वह तुरंत वस्तु की गति को पहचान लेती है और मैं उसे फोन करता हूं कि वह तुरंत मेरे पास आती है। वह हमारे घर में हमेशा खुलेआम घूमती रहती है। हमारी बिल्ली में सूंघने की बहुत शक्ति होती है। हम चूहों, सांपों और गोंद जैसे जानवरों को अपने घर में प्रवेश नहीं करने देते हैं। वह शाकाहारी और मांसाहारी दोनों तरह का खाना खाती हैं। लेकिन उसे दूध के बिस्कुट बहुत पसंद हैं। बिल्ली को बाघ की मौसी इसलिए कहा जाता है क्योंकि बिल्ली के सभी गुण एक जैसे होते हैं। मुझे लगता है कि हमारे घर में बिल्ली मेरी प्रेमिका है।

जब मैं अकेला होता हूं तो वह हमेशा मेरे साथ रहती है। मैं जब भी उदास होता हूं, उसके कारण अपना सारा दुख भूल जाता हूं। वह मेरी हर छोटी-छोटी चीजों से खेलती है। जैसे ही मैं स्कूल से घर आता हूँ तो यह मेरे पास आता है मैं उसे उठाकर उसके शरीर पर हाथ रख देता हूँ। वह झपकी लेना पसंद करती है। वह हमेशा हमारे पिछवाड़े में पेड़ से कूदकर खेलती रहती है। पैसा हमारे घर का सदस्य बन गया है। अगर वह घर में नहीं है, तो घर बहुत खाली लगता है, इसलिए यह हमारे घर को भरा हुआ महसूस कराता है उसकी आवाज घर को उत्साहित करती है।

इसे भी पढ़ें : My Family Essay In Hindi

300 शब्दो में मेरे प्रिय जानवर पर निबंध | my favourite animal essay in hindi in 300 words

अगर आप घर में कोई जानवर रखते हैं तो भी आपको बहुत मजा आता है। हमारे घर में तानी नाम की एक सुंदर, सफेद, चमकदार आंखों वाली, मुलायम बालों वाली बिल्ली है। मैं उसका कितना भी वर्णन करूं, वह कम पड़ जाएगी। हमारी तानी न केवल देखने में सुंदर है बल्कि मुझे लगता है कि वह गुणों की खान है।

मैंने उसे अपने दुख से बाहर निकाला है। हम उसे बाघ की चाची कहते हैं क्योंकि वह बाघ की तरह व्यवहार करती है। जब से वह बहुत छोटी थी, मैंने उसमें बहुत अच्छी आदतें डाली हैं। वह हर सुबह अपनी आवाज से जागती थी मैं जाग रहा था। वह रोज सुबह दस से पंद्रह मिनट तक अपने ही अंगों को चाट कर खुद को साफ करती हैं। चूहे उसका पसंदीदा भोजन हैं। इसलिए दूध उसका पसंदीदा पेय है। वह हमारे घर से कभी दूध नहीं चुराती। जब मैं घर पर होता हूं तो वह मेरे बगल में स्टडी रूम में बैठती है।

मेरे प्रिय जानवर पर निबंध 2021 | My Favourite Animal Essay In Hindi

वह दिन में बहुत सोती है लेकिन सोते समय सावधान रहती है। मैंने अपना हाथ उसके शरीर पर घुमाया और उसने तुरंत अपनी पूंछ को धीरे से हिलाया। जब भी घर में कहीं भी हल्की सी आवाज आती है तो वह तुरंत अपना कान तोड़ लेती हैं। वह बहुत शांत है। हमारी तानी बहुत बुद्धिमान और चतुर है। हमारे घर में कोई और कीट नहीं आता है। वह बहुत चालाक भी है।अगर वह बाहर खेलते समय गलती से अपने कुत्ते के पीछे पड़ जाती है, तो वह दौड़कर पेड़ पर बैठ जाएगी। वह बहुत ऊंचाई से कूदती है लेकिन घायल नहीं होती है।

वह चिंपैंजी सालुंखे जैसे छोटे पक्षियों का भी शिकार करती है। जब वह शिकार खाती है तो उसका दूध पीने का मन नहीं करता है। वह हमारे घर में मेरी छोटी-छोटी चीजों से खेलती है, जैसे बॉल, पेन, पेंसिल आदि। मैं भी उसके साथ खेलता हूं। जब भी मुझे खुशी या दुख होता है तो मैं उससे बात करता हूं। वह चुपचाप मेरी बात सुनती है।

जब मैं स्कूल जाता हूं तो वह मेरे घर के सामने इंतजार करती है। वह मेरे साथ घर आती है और मुझे परवाह नहीं है कि वह घर पर नहीं है। मुझे नहीं पता कि मैं उसके करीब आते ही बोरियत से कैसे छुटकारा पाऊं और तानी हमारे घर में सभी की प्यारी है और मैं उससे इतना प्यार करता हूं कि मैं उसे प्यार करता हूं।

निष्कर्ष

दोस्तों मैं आप को अभी लिख कर दिया,my favourite animal essay in hindi। अगर यह विषय आप को पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर साझा करे। my favourite animal essay in hindi इसी तरह के अन्य विषय पर निबंध के लिए हमे कमेंट करे।

Leave a Comment

x