मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी 2021 | Mera Bachpan Essay In Hindi

नमस्ते दोस्तों ,आज हम इस पोस्ट में मेरा बचपन पर निबंध अर्थात mera bachpan essay in hindi इसके बारे मे जानकारी लेंगे । mera bachpan essay in hindi languagei अर्थात my childhood essay in hindi यह निबंध हम 100 , 200 और 300 शब्दों में जानेंगे । तो चलिए शुरू करते है essay on childhood in hindi अर्थात childhood essay in hindi |

मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी | mera bachpan essay in hindi language in 100 , 200 and 300 words

मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी 100 शब्दों में | mera bachpan essay in hindi in 100 words

हर किसी का बचपन बहुत खास होता है क्योंकि उस समय हम जानते नही कि इसके परिणाम क्या होते हैं। हम सभी ने अपने बचपन मे खूब मस्ती की, खेल और खाने के अलावा कुछ नहीं किया। बचपन में हर कोई कितना प्यारा लगता है, जिससे लोग बहुत प्यार करते हैं। हर कोई हमारे साथ खेलना चाहता है।खूब बच्चों का बचपन शहरों में बीत जाता है, लेकिन मेरा बचपन गांव में बीता है। मैं बचपन से ही खूब शरारती रहा हूं और मेरे माता-पिता मुझे बहुत पीटते थे।

मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी 200 शब्दों में | mera bachpan essay in hindi in 200 words

मुझे अपने बचपन के दिन याद हैं क्योंकि मैं बचपन में बहुत बुरे काम करता था। जब मैं कोई शरारत करता था और मेरे माता-पिता मुझे मारने आते थे, तो मैं अपने दादाजी के पीछे छिपता था। मेरा बचपन एक छोटे से गाँव में बीता जहाँ लोगों की संख्या अधिक नहीं है लेकिन लोगों का दिमाग बहुत अच्छा है। मेरे गाँव के लोग बहुत ईमानदार थे और वे मुझसे बहुत प्यार करते थे क्योंकि मैं उसमें सबसे छोटा था। पुरा गांव इसलिए मुझे बहुत प्यार करता था।

एक बच्चे के रूप में, मैं कम पढ़ता था और अधिक खेलता था, माँ और पिताजी हमेशा मुझे पढ़ने के लिए कहते थे, लेकिन मैं झूठ बोलता कि मैंने अपना सारा होमवर्क किया। जब मैं बच्चा था तो बहुत सारे खेल खेलता था। खेल खेलते समय मुझे बहुत चोट लगती थी। माँ घर में मक्खन बनाती थी, फिर मैं चुपके से खा लेता, तो ऊसे बहुत गुस्सा आता था। लेकिन वह मुझे मार नहीं सकती थी।

मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी 300 शब्दों में | mera bachpan essay in hindi in 300 words

जब हम किसी का बचपन सुनते हैं, तो हमें अपना बचपन याद आता है। मेरा बचपन बहुत अच्छा है। बचपन में मैं बहुत बुरे काम करता था। मैं बचपन में बहुत प्यारा हुआ करता था, जिससे मुझे बहुत प्यार और स्नेह मिला। लोगों से। हम सब बहुत सोते थे और अपने घर में खेलते थे। जब हम छोटे थे, हमें, पढ़ना था। लेकिन मैं इतना शरारती था कि मैं कभी पढ़ना नहीं चाहता था, बस खेल के पीछे रह गया।

मेरा बचपन पर निबंध हिन्दी 2021 | Mera Bachpan Essay In Hindi

सुबह हमारे सभी दोस्त एक साथ खेलने आते और दोपहर तक खेल मे लगे रहते। हम सब मिट्टी की तरह कीचड़ में खेलने लगे लेकिन खेलना बंद नहीं किया।माँ को गुस्सा आता था जब हम इतने गंदे घर जाते थे लेकिन हमने खेलना कभी बंद नहीं किया। जब मैं छोटा था तो मैं अपने पिता के साथ खेतों में काम करता था। मेरे पिता मुझे बैलों पर बिठाते थे। मुझे बैलों पर बैठना बहुत अच्छा लगता था। बचपन के इन पलों को याद करके मुझे बहुत खुशी होती है, इन बातों को याद करते ही मेरे चेहरे पर मुस्कान आ जाती है।

मेरे घर के बगल में एक छोटा सा सरोवर था। बरसात के मौसम में जब बहुत तेज बारिश होती थी, तो उस झील का पानी हमारे घर में भर जाता। जब घर में पानी आता, तो हम सभी बच्चे उसमें कूद जाते। हम बहुत सारी खुशी महसूस करते थे। बारिश के पानी में खेलने से मना करने पर भी,हम पानी मे भीग जाते थे। घर के लोग हम पर चिल्लाते थे, लेकिन फिर भी हमारे सभी दोस्त बारिश के पानी में खेलते थे।

बचपन में मैं पढ़ाई में बहुत अच्छा नहीं था और मेरा पढ़ाई में मन नहीं लगता, मैं बस खेलता था, इसलिए मैंने अपना दिमाग सिर्फ खेलकूद में लगाया। जब गांव में मेला लगता था, तो सभी बच्चे मेले में जाते थे। मैं माता-पिता के साथ मेले में घूमता था और मैं उनके कंधे पर बैठकर ऊपर से सब कुछ देखता था। मैं मेले से बहुत सारे खिलौने घर लाता था और कभी-कभी मैं उन खिलौनों के साथ खेलता था और उन्हें फेंक देता,लेकिन मैं बिना खिलोने लिए मेलेसे कभी घर नहीं आया।

निष्कर्ष

आज हमने इस पोस्ट में मेरा बचपन पर निबंध अर्थात mera bachpan essay in hindi इसके बारे मे जानकारी ली । mera bachpan essay in hindi languagei अर्थात my childhood essay in hindi यह निबंध हम 100 , 200 और 300 शब्दों में जान लिया । अगर आपको इस पोस्ट और वेबसाईट के बारे मे कोई भी शंका हो तो आप हमे कमेन्ट बॉक्स मे कमेन्ट करके बता सकते हो । और essay on childhood in hindi अर्थात childhood essay in hindi यह पोस्ट शेयर करना ना भूले ।

अगर आप ब्लॉगिंग यह मराठी मे अर्थात Blogging In Marathi सीखना चाहते हो तो मराठी जीवन इस वेबसाईट को जरूर विजिट करे ।

Leave a Comment

x