स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी 2021 | Independence Day Essay In Hindi

नमस्ते दोस्तों ,आज हम इस पोस्ट में स्वतंत्रता दिवस पर निबंध अर्थात independence day essay in hindi इसके बारे मे जानकारी लेंगे । essay on independence day in hindi अर्थात essay of independence day in hindi यह निबंध हम 100 , 300 और 500 शब्दों में जानेंगे । तो चलिए शुरू करते है essay in hindi on independence day |

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी | essay of independence day in hindi | essay on independence day in hindi in 100 , 300 and 500 words

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी 100 शब्दों में | independence day essay in hindi in 100 words

15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस है जो पूरे भारत में मनाया जाता है। 1947 में आज ही के दिन हमारा देश भारत ब्रिटिश शासन से आजाद हुआ था। भारत लगभग दो सौ वर्षों तक अंग्रेजों की गुलामी में रहा। सभी भारतीयों पर अंग्रेजों का अत्याचार था। कई शूरवीरों ने इस अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाई।

महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, लोकमान्य तिलक, सरदार वल्लभभाई पटेल जैसे कई स्वतंत्रता सेनानियों ने देश की आजादी के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। भगत सिंह सुखदेव और राजगुरु जैसे कई क्रांतिकारियों ने अपने प्राणों की आहुति दी। सभी भारतीय एकजुट हुए सत्याग्रह आंदोलन और भारत छोड़ो आंदोलन जैसे कई आंदोलन हुए। अंततः अंग्रेजों को भारत छोड़ना पड़ा और 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हो गया।

हर साल 15 अगस्त को प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं। इस आयोजन में बड़ी संख्या में भारतीय भाग लेते हैं। इस दिन को स्कूल, कॉलेज और कई कार्यालयों में भी बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। मुख्य अतिथि राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं और राष्ट्रगान गाया जाता है। सभी भारतीय स्वतंत्रता दिवस को बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं और हर जगह देशभक्ति के गीत गाए जाते हैं। लोग एक दूसरे को शुभ दिन की शुभकामनाएं देते हैं और शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी 300 शब्दों में | independence day essay in hindi in 300 words

भारत मेरा देश है। सभी भारतीय मेरे भाई हैं। हम सब ऐसा वादा करते हैं। भारत में हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। यह भारत का राष्ट्रीय पर्व है। यह सभी भारतीयों के लिए एक खुशी और बहुत महत्वपूर्ण दिन है। क्योंकि आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को हमारा देश अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था। इस दिन, स्वतंत्र भारत के पहले प्रधान मंत्री पंडित जवाहर नेहरू ने नई दिल्ली में लाल किले पर तिरंगा फहराया था।

तब से हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। हमारे देश भारत के कई महान नेताओं ने देश को आजादी दिलाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी। और 15 अगस्त 1947 को भारत को आजादी मिली। भारत शब्द में “भा” का अर्थ है उज्ज्वल और “चूहा” का अर्थ है उज्ज्वल। भारत चमक का देश है। भारत की आजादी के बाद से हर साल 15 अगस्त हर जगह हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है।

यह स्वर्ण दिवस हमारे देश की स्वतंत्रता की भावना को कायम रखने के लिए हर जगह मनाया जाता है। हर राज्य, जिले, तालुका, गांव और दिल्ली के लाल किले में प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है, राष्ट्रगान गाया जाता है। इस आयोजन में सभी भारतीय भाग लेते हैं। इसके अलावा, कई जगहों पर इस दिन भाषण और प्रदर्शनियों का आयोजन किया जाता है। बड़े बच्चे सुबह के दौर में भाग लेते हैं और भारत माता की जय-जयकार करते हैं। लोग एक दूसरे को शुभ दिन की शुभकामनाएं देते हैं।

हमारा देश भारत लगभग डेढ़ साल तक अंग्रेजों का गुलाम रहा। सभी भारतीय अंग्रेजों के अन्याय और दमन का सामना कर रहे थे। महात्मा गांधी, लोकमान्य तिलक, सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभभाई पटेल, पंडित जवाहरलाल नेहरू, वीर सावरकर, डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर जैसे कई महान नेताओं के साथ-साथ भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव जैसे कई क्रांतिकारी नायकों ने अपने जीवन का बलिदान दिया।

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस ऐसे उत्सव हैं जो हमें हमारे महान नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान की याद दिलाते हैं। और आपको एक नई प्रेरणा दें। उनके किरदार को पढ़ा जाए तो भी शरीर रोमांचित हो उठता है। आजादी के बाद से भारत ने कई क्षेत्रों में काफी प्रगति की है। लेकिन आज भी समाज में भ्रष्टाचार, अपराध, गरीबी और अस्वच्छता की स्थिति बढ़ती जा रही है। भारत के नागरिक के रूप में हमें ऐसी चीजों को मिटाना होगा और अपने देश को समृद्ध बनाना होगा।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी 500 शब्दों में | independence day essay in hindi in 500 words

मैं अपने निबंध की शुरुआत उन सभी महान नेताओं को श्रद्धांजलि देते हुए करता हूं, जिन्होंने हमारे देश, भारत की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। दोस्तों क्या आप “भा” शब्द का अर्थ जानते हैं? “भ” का अर्थ है उज्ज्वल और “चूहा” का अर्थ है दीप्तिमान। भारत चमक का देश है। हमारे देश भारत में सभी जातियों और धर्मों के लोग एकता में रहते हैं। इसलिए, हमारे देश को एक बहु-धार्मिक देश के रूप में जाना जाता है।

हम गर्व और गर्व से वादा करते हैं कि भारत मेरा देश है और सभी भारतीय मेरे भाई हैं। यह वादा हम आज इसलिए कह सकते हैं क्योंकि हमारे महान नेताओं, क्रांतिकारियों ने अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई लड़ी और हमें आजादी दिलाई। लगभग डेढ़ शताब्दी से हमारा देश भारत अंग्रेजों की गुलामी में जी रहा था। सभी भारतीय अंग्रेजों के अन्याय से पीड़ित थे। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम आसान नहीं था। हजारों भारतीय योद्धाओं को आजादी के लिए अथक संघर्ष करना पड़ा।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध हिन्दी 2021 | Independence Day Essay In Hindi

देश के हजारों वीर वीरों ने देश के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। इस अन्याय और उत्पीड़न के खिलाफ लोकमान्य तिलक, महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, वीर सावरकर, डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर जैसे कई वीर वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दी। मंगल पांडे, सुभाष चंद्र बोस, राजगुरु, सुखदेव, लाला लाजपतराय, डॉ. राजेंद्र प्रसाद ऐसे हजारों वीर, क्रांतिकारियों ने देश के लिए बहुत बड़ा योगदान दिया है। और अंतत: 15 अगस्त 1947 को भारत स्वतंत्र हुआ।

तब से हर साल 15 अगस्त हर जगह हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। हम ऐसे शूरवीरों के काम को कभी नहीं भूलेंगे। तो १५ अगस्त और २६ जनवरी के उत्सव हमें शूरवीरों की याद दिलाते हैं। भारतीय स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर राजधानी नई दिल्ली के लाल किले में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है। प्रधानमंत्री द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है। हर कोई राष्ट्रीय ध्वज को सलामी देता है और राष्ट्रगान गाता है। देश के प्रधानमंत्री स्वतंत्रता संग्राम के शहीद क्रांतिकारियों को श्रद्धांजलि देते हैं। इस दिन भारतीय संगठनों द्वारा परेड तैयार की जाती है। प्रधानमंत्री परेड की देखरेख करते हैं।

पूरे कार्यक्रम का दिल्ली से टेलीविजन और रेडियो पर सीधा प्रसारण किया जाता है। देश भर के स्कूलों, कॉलेजों, निजी और सरकारी कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है। इस दिन स्कूलों और कॉलेजों में निबंध, भाषण, गायन जैसी विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती हैं। प्रतियोगिता में सफल छात्रों के साथ-साथ मेधावी छात्रों को पुरस्कार भी दिए जाते हैं। छात्रों को खिलाया जाता है और फिर छुट्टी दी जाती है। पूरे देश में खुशी का माहौल है। इस प्रकार पूरे देश में स्वतंत्रता दिवस बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। आज, सभी शहरों, तालुकों और गांवों में झंडे फहराए जाते हैं। गान गाया जाता है। भाषण, प्रभातफेरी पूरे भारत में आयोजित किए जाते हैं।

हम सभी बहुत भाग्यशाली हैं कि स्वतंत्र भारत में जन्म लिया। उन वीर वीरों के बलिदान की बदौलत आज हम एक शांतिपूर्ण और सुंदर जीवन जी सकते हैं। आज हम इस स्वर्ण युग को हर्ष और उल्लास के साथ मना रहे हैं। क्योंकि हमारे देश के वीर जवान अपनी जान जोखिम में डालकर सरहद पर दुश्मन का सामना कर रहे हैं। इन जवानों को मेरा सलाम। आज हमारा देश भारत शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, खेल, व्यापार जैसे कई क्षेत्रों में बहुमूल्य कार्य कर रहा है।

देश दिन-ब-दिन तरक्की कर रहा है। लेकिन समाज में अपराध, भ्रष्टाचार, गरीबी और अस्वच्छता व्याप्त है। भारत के नागरिक के रूप में, हमें देश के विकास के लिए प्रयास करना चाहिए। हमारे देश को बुरे लोगों और बुरी चीजों से बचाना चाहिए। भारत को दुनिया का सबसे अच्छा देश बनाने के लिए एक साथ आना और मिलकर काम करना हमारा कर्तव्य है।

निष्कर्ष

आज हमने इस पोस्ट में स्वतंत्रता दिवस पर निबंध अर्थात independence day essay in hindi इसके बारे मे जानकारी ली । essay on independence day in hindi अर्थात essay of independence day in hindi यह निबंध हम 100 , 300 और 500 शब्दों में जान लिया । अगर आपको इस पोस्ट और वेबसाईट के बारे मे कोई भी शंका हो तो आप हमे कमेन्ट बॉक्स मे कमेन्ट करके बता सकते हो । और hindi essay on independence day in hindi language यह पोस्ट शेयर करना ना भूले ।

अगर आप ब्लॉगिंग यह मराठी मे अर्थात Blogging In Marathi सीखना चाहते हो तो मराठी जीवन इस वेबसाईट को जरूर विजिट करे ।

Leave a Comment

x