होली पर निबंध 2021 | Holi Essay In Hindi

दोस्तों आज मैं आपको होली पर निबंध ( Holi essay in hindi ) लिखना बताऊंगा। बहुत सारे स्कूल के स्टूडेंट को होली पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है लेकिन जब वह गूगल पर holi essay in hindi डालते हैं तो उनको प्रॉपर essay नहीं मिलता है। Holi festival के उपर निबंध बताऊंगा। इसीलिए मैं आज

आपको holi essay in hindi पूरी तरीके से बताऊंगा। होली पर निबंध लिखना बहुत ही आसान होता है लेकिन फिर भी कुछ लोग होली पर निबंध नहीं लिख पाते।

होली पर निबंध | Holi essay in hindi in In 100 , 300 And 500 Words

होली पर निबंध 100 शब्द | Holi Essay In Hindi In 100 Words

होली पर निबंध - Holi Essay In Hindi In 100 , 300 And 500 Words

होली का त्योहार बहुत ही पवित्र त्योहार माना जाता है यह हिंदी साल के फागुन महीने में आता है और अंग्रेजी साल के मार्च के महीने में। होली के त्यौहार को भाईचारे का त्यौहार भी माना जाता है इस दिन लोग अपने सारे दुश्मनी को बुलाकर एक दूसरे को गले लगाते हैं और बहुत ही धूमधाम से होली का त्यौहार मनाते हैं।

हमारे देश के अलग-अलग राज्यों में इसके अलग नाम होते हैं कहीं पर फगुआ कहीं पर धुलेडी कहीं पर छारंडी ऐसे नाम है। यह नेपालियों का भी खास त्यौहार होता है और इसे फागुन के पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है।

होली पर निबंध 300 शब्द | Holi Essay In Hindi In 300 Words

होली पर निबंध - Holi Essay In Hindi In 100 , 300 And 500 Words

होली भारत के देश का सबसे मुख्य त्यौहार माना जाता है इस त्यौहार में लोग लोगों की दुश्मनी बुलाकर उनके साथ इस त्योहार को मनाते हैं। यह त्यौहार भारत में फागुन मास के पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है और यह त्यौहार नेपाल देश में भी बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है। इस त्यौहार का हमारे राज्यों में अलग अलग नाम से भी जानते हैं। यह त्यौहार पूरे विश्व भर में मनाया जाता है लेकिन यह भारत और नेपाल में बहुत ही ज्यादा प्रचलित है। और उस जगह पर भी मनाया जाता है।

जहां पर हिंदू लोग रहते हैं। इस त्यौहार का प्रारंभ बसंत पंचमी के दिन एक रेड गाड़ने से शुरू करते हैं बसंत पंचमी के एक महीने 10 दिन के बाद यह त्योहर आता है। इसकी शुरुआत होलिका दहन से की जाती है जिससे हमारे भारत में बहुत ही मान सम्मान के साथ किया जाता है। इस त्यौहार में लोग ढोल बाजा और भी वह सारी चीजें बजाते हैं जिसे पर वह नाच सके झूम सके मनोरंजन कर सके। इस त्यौहार के दिन सभी लोग एक दूसरे के घर पर जाते हैं और एक दूसरे को कलर लगाकर गले मिलते हैं।

होली के त्यौहार में बच्चे बूढ़े सभी बहुत ज्यादा खुश रहते हैं मजे करते हैं। इस त्योहार में खासकर के बच्चे बहुत ही ज्यादा खुश रहते हैं । होली का यह त्यौहार बसंत पंचमी के दिन से शुरुआत होती है और उस दिन पर लोग गुलाल पहली बार उड़ाते हैं। इस त्यौहार को इस तरह मनाया जाता है कि लोग अपने पुराने गिले-शिकवे बुलाकर एक दूसरे के फिर से दोस्त बन जाए। हमारे देश में होली के त्यौहार को बहुत ही पवित्र मानते हैं और इसकी पूजा भी करते हैं होली के दिन जिसे होलिका दहन के नाम से जानते हैं।

Read Also – Swachh Bharat Abhiyan Essay In Hindi 100,300,500 Word – स्वच्छ भारत अभियान निबंध

होली पर निबंध 500 शब्द | Holi Essay In Hindi In 500 Words

होली पर निबंध - Holi Essay In Hindi In 100 , 300 And 500 Words

हमारे देश में होली के त्यौहार को धूमधाम से मनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है। यह त्यौहार फागुन मास के पूर्णिमा के दिन पड़ता हैइसे बहुत ही अच्छी तरीके से मनाया जाता है। इस त्यौहार के दिन लोग एक दूसरे के घर पर जाते हैं गुलाल उड़ाते हैं और नाचते है मनोरंजन करते है। हमारे देश में यह त्यौहार मनाया ही जाता है लेकिन हमारे पड़ोसी देश नेपाल में भी यह त्यौहार बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं। हमारे देश में होली के मनाने के पीछे एक बहुत ही दिलचस्प कहानी है।

हमारे देश में ऐसा माना जाता है, विष्णु भक्त प्रहलाद को मारने के लिए उनके पिताजी ने अपनी बहन होलिका के गोद में प्रहलाद को बैठा कर जला दिया था ताकि प्रहलाद उस आग में जलकर मर जाएं। लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं हुआ प्रहलाद को आग से एक खरोच भी नहीं आई लेकिन उनके पिता की बहन अर्थात उनकी दुआ आग में जलकर मर गई। तभी से हमारे देश में होलिका को जलाकर या त्यौहार का प्रारंभ किया जाता है जिसे हमारे देश में होलिका दहन के नाम से जाना जाता है।

हमारे देश के अलग-अलग राज्यों में अलग अलग तरीके से होली मनाई जाती है जैसे बनारस में लट्ठमार होली बहुत ही ज्यादा प्रचलित है। इस होली में पुरुष जब महिलाओं के ऊपर रंग डालते हैं तब उन पर महिलाएं लाठियां मारती हैं। हरियाणा में इस त्यौहार को धूलंडी नाम से जाना जाता है जिसमें भाभी अपने देवर को सताती है। वृंदावन में होली के त्यौहार को 15 दिनों तक मनाया जाता है। इसी तरह हमारे अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम से होली को मनाया जाता है और जानते हैं। होली मनाने के लिए लोग अपने पुराने झगड़े को खत्म कर देते हैं।

होलिका दहन करने के लिए लोग एक जगह पर बहुत सारी लकड़ियां, उपले, जौ,चना,नारियल इत्यादि सामानों को जमा करके रखते हैं और उसमें आग लगाकर जला देते हैं इससे यह माना जाता है कि यह राजा हिरण्यकश्यप और उसकी बहन होलिका की बुराइयों को जलाने का प्रतीक माना जाता है। होलिका दहन के अगले दिन ही होली के त्यौहार को मनाया जाता है जिसमें लोग सुबह उठ कर भगवान के पैर पढ़ कर सफेद कलर का कपड़ा पहन कर इस त्योहार को मनाते हैं जिसमें वह एक दूसरे को गुलाल लगाकर गले मिलते हैं और इसमें बच्चे पिचकारी में कलर भरकर एक दूसरे के ऊपर मारते हैं।

होली पर निबंध - Holi Essay In Hindi In 100 , 300 And 500 Words

होली के त्यौहार में कहीं-कहीं पर ढोल बाजे बजाए जाते हैं और कहीं पर सिर्फ सूखे गुलाब को लगाकर होली को मनाया जाता है और कहीं पर लोकगीत गाकर लोग नाचते हैं झूमते हैं। और इसमें लोग यह भी बोलते हैं कि “बुरा ना मानो होली” है। होली के समय में खेतों में सरसों के फूल खिले रहते हैं आजू-बाजू बहुत ही रोमांचक माहौल हुआ रहता है इसीलिए हमारे भारत में यह त्योहार बहुत ही प्रसिद्ध है क्योंकि इस दिन लोग बहुत ही ज्यादा उत्साहित रहते हैं और अपने मन का मैल मिटा कर एक दूसरे से अच्छे तरीके से रंग लगाते हैं और यह त्यौहार मनाते हैं।

निष्कर्ष ( Conclusion )

इस पोस्ट में हमने होली पर निबंध ( holi essay in hindi ) लिखा है जो १०० , ३०० और ५०० शब्दों में लिखा गया है। जो बच्चे अभी स्कूल में है उन्हें इस पोस्ट के माध्यम से होली पर निबंध ( holi essay in hindi ) लिखने पर बहुत आसानी होगी। अगर आपको ऐसे ही और टॉपिक पे निबंध चाहिए तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हो। हम उस टॉपिक पर निबंध लिखने की जरूर कोशिश करेंगे।

बिजनेस की जानकारी हिंदी में लेने के लिए असली ज्ञान वेबसाइट पर विजिट करे

Leave a Comment