वायु प्रदूषण पर निबंध हिंदी में 2021 | Best essay On Air Pollution In Hindi Language

दोस्तों आज के निबंध का हमारा विषय है वायु प्रदूषण पर निबंध अर्थात essay on air pollution in Hindi इसके बारे में हमें हमारे स्कूल की कक्षा पांचवी छठवीं सातवीं आठवीं नौवीं और दसवीं में अत्यधिक निबंध लिखने को दिया जाता था। वायु प्रदूषण निबंध एक बहुत ही आसान निबंध है जो हमें अक्सर स्कूल में लिखने के लिए दे दिया जाता था। मैं आपको इस ब्लॉग में वायु प्रदूषण पर निबंध लिखकर दूंगा।

तो चलिए शुरू करते हैं essay on air pollution in Hindi

वायु प्रदूषण पर निबंध हिंदी में | essay on air pollution in Hindi in 100, 300 and 500 words

100 शब्दों में वायु प्रदूषण पर निबंध | air pollution essay in Hindi in 100 words

पृथ्वी पर सभी जीव जंतुओं की वजह से ही जिंदा है क्योंकि हमें वालों की बहुत ही अधिक आवश्यकता है हम जो सांसे लेते हैं वह वायु ही होती है यदि वायु दूषित हो जाएगी तो हमें सांस लेने में बहुत ही समस्या उत्पन्न होगी या फिर हमारी मृत्यु भी हो सकती है।

पृथ्वी पर वायु प्रदूषण बढ़ने का कारण फैक्ट्रियां हैं जिनसे जहरीले गैस निकलती है और वह वायुमंडल के बारे में मिश्रित हो जाती हैं जिसकी वजह से धीरे-धीरे व वायु को प्रदूषित करती रहती हैं। वह प्रदूषण की वजह से ही ऑक्सीजन का स्तर कम होता जा रहा है अगर इसी तरह वायु प्रदूषण बढ़ता रहा तो आगे एक समय ऐसा आएगा कि जब ऑक्सीजन पूरी तरह से नष्ट हो जाएगी और हमें सांस लेने के लिए कोई भी गैस नहीं बचेगी।

300 शब्दों में वायु प्रदूषण पर निबंध | air pollution essay in hindi in 300 words

मैं विदित है कि हमारे वायुमंडल में पहले से ही ऑक्सीजन गैस का अभाव है फिर भी इतनी भारी मात्रा में वायु प्रदूषण प्रतिदिन फैल रहा है।वायु प्रदूषण से कई सारी बीमारियां भी हमें हो सकती हैं जैसे दमा नामक बीमारी हमें वायु प्रदूषण की वजह से हो सकती है।

पृथ्वी पर वायु प्रदूषण इसलिए इतनी तेजी से बढ़ रहा है क्योंकि हर दिन हजारों पेड़ काटे जा रहे हैं नई नई मोटरसाइकिल प्रतिदिन निकाली जा रही है और उन्हें सड़कों पर चलाया जा रहा है जिसकी वजह से उनमें से निकलने वाले धुंए हमारे वायुमंडल में मिलती है फिर हमारे वायुमंडल के उपाय को दूषित कर देती हैं।

वायु प्रदूषण पर निबंध हिंदी में 2021 | Best essay On Air Pollution In Hindi Language

इंसानों के साथ साथ पशु पक्षियों में भी वायु प्रदूषण का बहुत ही दुष्प्रभाव पड़ता है इससे कई सारे पक्षी पक्षियों प्रतिदिन मार रहे हैं। water pollution की वजह से वायु प्रदूषण होता है क्योंकि गंदे पानी जल वाष्प बनकर वायुमंडल के बारे में मिलता है तब वह हमारी वाइफ को दूषित कर देता है जिसकी वजह से व्हाय प्रदूषण और भी अधिक मात्र में फैलता है।

यदि हम चाहे तो वायु प्रदूषण अर्थात वायु को दूषित होने से बचा सकते हैं। हवाई को दूषित होने से बचाने पर हम अपनी जान को भी बचा रहे हैं क्योंकि यदि हम दूषित हवा में सांस लेंगे तो हमारी मृत्यु हो सकती है। एयर पोलूशन रोकने के लिए हम सबको हर दिन एक वृक्ष लगाने की कोशिश करनी चाहिए और पेड़ों को ना काटना चाहिए। बाहर कहीं आने जाने के लिए मोटरसाइकिल के आकार का इस्तेमाल ना करके साइकल या आप पैदल चलकर जाना चाहिए ताकि हम वायु प्रदूषण को बढ़ने से रोक सके।

हवाई प्रदूषण का बहुत ही दुष्प्रभाव पड़ता है पृथ्वी पर रहने वाले सभी प्राणियों के लिए यदि किसी मनुष्य को सांस लेने वाली बीमारी है तो उससे यदि शुद्ध वायु नहीं मिलेगी तो उस व्यक्ति की मृत्यु हो सकती हैं और पशु पक्षियों में भी इसी तरह की बीमारियां और मृत्यु होती है वायु प्रदूषण की वजह से।

500 शब्दों में वायु प्रदूषण पर निबंध | air pollution essay in Hindi in 500 words

वायु प्रदूषण हमारे पृथ्वी पर एक अभिशाप के जैसा फैलता जा रहा है। प्रदूषण की वजह से हर दिन कोई नई बीमारी मनुष्य और पशु पक्षियों में फैल रही है। हमारे वायुमंडल में पहले से ही ऑक्सीजन इतनी कम है कि कई स्थानों पर लोगों को सांस लेने में समस्या होती है उसमें यह वायु प्रदूषण भी बढ़ता जा रहा है जिसकी वजह से ऑक्सीजन गए धीरे-धीरे नष्ट होने के कगार पर आती जा रही है।

वायु प्रदूषण फैलने का सबसे बड़ा कारण फैक्ट्रियों और कंपनियों से निकलने वाले विषैले धुएं होते हैं जो कारखानों से निकलकर हमारे वायुमंडल में मिलते हैं फिर वहां किस शुद्ध हवाओं को भी दूषित कर देते हैं। 

वायु प्रदूषण ना केवल कारखानों से निकलने वाले जहरीली गैसों से बल्कि रोड पर चलने वाले वाहनों से भी होता है। मोटरसाइकिल कार इन सब से निकलने वाली धुएं भी हमारे वातावरण में मौजूद हवाओं को दूषित करती हैं। हम अपने घरों में AC और फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं लेकिन हमें यह नहीं पता है कि उनसे जो कैसे निकलती है उससे भी हमारे वातावरण की हवाए दूषित होती हैं बल्कि यह कहे कि कारों और मोटरसाइकिलों से ज्यादा एयर कंडीशनर और रेफ्रिजरेटर से निकलने वाले धुंए हमारे वातावरण के हवाओं को दूषित कर रहे हैं।

वायु प्रदूषण पर निबंध हिंदी में 2021 | Best essay On Air Pollution In Hindi Language

वायु प्रदूषण की वजह से वातावरण में भी बहुत बदलाव आ रहे हैं इससे हमारे पर्यावरण और वातावरण को बहुत ही क्षति पहुंच रही है। प्रदूषण की वजह से हमारे पृथ्वी के चारों तरफ मौजूद ओजोन लेयर भी घटती जा रही है जिसका दुष्प्रभाव में भविष्य में भोगना पड़ सकता है।

कई सारी चीजों की वजह से वह प्रदूषण हमारे वातावरण में काफी तेजी के साथ वृद्धि कर रहा है, आसमान में उड़ने वाले हवाई जहाज पानी में चलने वाले क्रूजस लकड़ी जलाना, सैनिको द्वारा इस्तेमाल किए जाने विस्फोट को, हम अपने बाल को काला करने के लिए जिस स्प्रे इस्तेमाल करते हैं उससे भी वायु प्रदूषण होता है।

वायु प्रदूषण से लोगों को श्वास रोग, खांसी हृदय रोग इत्यादि बहुत ही प्रचुर मात्रा में बढ़ती जा रही है। प्राकृतिक तरीके से भी हूं वायु प्रदूषण फैलता है। वायु प्रदूषण में बहुत ही सूक्ष्म समय कीटाणु होते हैं जो हमारे शरीर को बहुत ही नुकसान पहुंचाते हैं।

निष्कर्ष

इस ब्लॉग से हमें यह निष्कासन करते हैं कि हमें वायु प्रदूषण से कई सारी समस्याएं हो सकती है कई सारी बीमारियां हो सकती हैं तो हमें इन को रोकना चाहिए जितना हो सके उतना कम से कम वाहनों का उपयोग करें ताकि वह प्रदूषण कम होने में मदद हो सके।

दोस्तों अभी हमने जाना essay on air pollution in Hindi । यदि आपको वायु प्रदूषण निबंध पर कोई सवाल है तो आप कमेंट करके पूछ सकते। बहुत सारे लोग गूगल पर यह सर्च करते हैं essay on air pollution in Hindi इसलिए मैंने इस विषय पर लिखा था कि आपको मदद मिल सके।

अगर आप को business ideas in hindi में कोई भी जानकारी चाहिए तो आप असली ज्ञान वेबसाइट को विसिट करे

Leave a Comment

x